आम आदमी पार्टी …तूफानों से खेलना शौक़

आम आदमी पार्टी जिसे लोगों ने हमेशा अपने सरआँखों पे रखा हैI लोग जिसे एक स्वछ राजनीति का मसीहा समझते हैI अचानक क्या ऐसा हो गया कि जो लोग आम जनता से किये गए वादे और उनके छोटे-छोटे सपनो को पूरा करने के लिए हमेशा अपने आप को तत्पर रखते थे वही लोग अब आपस में ही भीड़ गए, एक दुसरे पर कटाक्ष और शब्दों की तीर बाज़ी करनी शुरू कर दीI फेसबुक और सोशल मीडिया तो कुरुक्षेत्र की भूमि बन कर रह गयी हैI जो लोग पहले एक रास्ते एक ही मंजिल की ओर आगे बढ़ रहे थे वही लोग अब कई रास्तो की ओर बिखर गए हैंI कई लोगों ने तो चलना और आगे बढ़ना तो दूर की बात है उन्होंने अपना रास्ता भी अलग कर लिया है I

पार्टी के अन्दर जो उथल पुथल आया इससे शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जो अपरिचित होगाI मै यह ज़रूरी नहीं समझता के जो हुआ उसकी व्याख्या यहाँ करूँI मगर हाँ चन्द शब्दों में मै अपनी राय रखना ज़रूरी समझता हूँI

­­­­­­­­­­­­­­­­­­­­­मिटाके जिसने अपनी हस्ती को तुझे सहारा दिया

शर्म है तुझपे, तूने उसी को रुशवा किया

मत भूल के तू अधुरा है  उनके बिना

बस तू इतना बता दे के तूने क्यों ऐसा किया

शायद अब आप मेरी मत को समझ गए होंगे पूरी देश की जनता ने आम आदमी पार्टी को अपने कंधे पे बैठा कर पुरे देश ही नहीं बल्कि विदेशो का भी भ्रमण कराया बड़ी शर्म की बात है कि आज उसी आम जनता को परेशान होना पड़ रहा है वो भी इसलिए के जिन लोगो पे उनका इतना भरोषा था वही लोग उन्हें बता भी नहीं रहे है कि क्या कुछ ऐसा हुआ कि पार्टी में तूफान आ गया आम जनता चीख़-चीख़ कर कह रही है कि आप मुझे बताएं क्या हुआ है| मै हमेशा के तरह पार्टी के दुःख को अपना दुःख समझ कर इसपर  मरहम लगाऊंगा और जल्द से जल्द इस दुःख को सुख में बदलने की कोशिश करूँगा मगर आज न तो कोई उस बेचारे आम आदमी की आवाज़ को सुन रहा है और न ही उसके दुःख को कोई समझ रहा है कल तक तो सब आम आदमी पार्टी में उसी आम आदमी के तरह सीधे- सादे ओर मै (so-called “AHENKAR”) की भावना से परे थे अब शायद उन सब में भी मै (so-called “AHENKAR”) की भावना का समावेश हो गया है और सब एक दुसरे से बड़े हो गए है| मेरी समझ में तो बस एक ही बात सुझता है जो पार्टी में उठे इस तूफान को रोकने में सफल हो सकता है वो है कार्यकर्ताओं की राय ली जाये| अगर आपके मन कोई सुझाव है तो आप भी साझा कीजिए|

With best wishes and tons of gratitude​

 
Raza Quadir
(MBA – HR & FINANCE)
Mb:- +91-9692330642
____________________________________________________________________________
Advertisements

One thought on “आम आदमी पार्टी …तूफानों से खेलना शौक़

  1. We believe in Arvind ji’s quality…..It should not be forgotten that the journey between 96% failure in Loksabha election 2014 to 97% success in recent Delhi assembly election……most part of credit of this success goes to Arvind ji’s hand…..and one thing could not be forgotten that PAC decision has been taken in a democratic way…..Now you can decide who have full faith in democracy and who have not???

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s